Google+ Badge

सोमवार, 12 जनवरी 2015

बचना होगा दंश से ...

सांप  फिर  आ  गए  हैं
बिलों  के  बाहर
सही  बात  तो  यह  है  कि
हर  सांप  विषहीन / दंतहीन  भी  नहीं  होता
और  न  ही  डरपोक  भी

कभी  आना  करैत  के  दांव  में
छोड़ेगा  नहीं  तुम्हें
दौड़ा-दौड़ा  कर  डंसेगा  तुम्हें  !

सवाल  यह  भी  है
कि  हममें  से  कितने  लोग  जानते  हैं
करैत  की  आक्रामकता  के  बारे  में
और  कौन-कौन  पहचानता  है
करैत  और  कोबरा  को  ?

सांप  का  बाहर  आना  अपने  बिल  से
बहरहाल,  ख़तरनाक  है
हर  असावधान  मनुष्य  के  लिए
चाहे  सांप  की  जाति  कोई  भी  हो  !

जीवन  यदि  कोई  शर्त्त  है
तो  रोकना  होगा  तुम्हें
सांपों  को
अपने  और  अपनी  संततियों  को
डंसने  से
बचना  होगा  दंश  से
सांप  की  विभिन्न  प्रजातियों  के
आक्रमण  से  !

                                                                                     (2015)

                                                                             -सुरेश  स्वप्निल

...