Google+ Badge

सोमवार, 20 जून 2016

कबीर जयंती : कुछ दोहे

कबीर  जयंती :  कुछ  दोहे



'साहिब  हम  बौरा  भले  लुटिबे  को  तैयार
जा  ऊपर  बिपदा  बड़ी  बांधि  लेहु  घर-बार । 


कौनो   देव  न  जानि  हम  जो  पूजै  संसार
सदगुरु  हमरे  दाहिने  करिहै  बेड़ा  पार ।

जुलुम  न  कीजे  काहु  पर जो  मानुस  तन  पाए
हाय  निकस  पावक  बनहि   राजपाट  बरि जाए ।'
                                                                               
                                                                                            (2016) 

                                                                                      -सुरेश स्वप्निल